highest paid IT CEO in india 2024: सलिल पारेख Indian IT sector में सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले दूसरे CEO बनें।

highest paid IT CEO in india 2024: एक बार फिर IT sector की दिग्गज कंपनी Infosys फिर चर्चा में हैं। इस बार ये कंपनी अपने CEO सलिल पारेख के कारण चर्चा में आयी हैं। दरअसल, Infosys के CEO सलिल पारेख indian IT sector में सबसे ज्यादा Salary पाने वाले दूसरे CEO बन गये हैं। पारेख ने fY 2024 में 66.25 करोड़ रु.का Annual Compensation लिया हैं। जैसा कि कंपनी के Annual report में बताया गया हैं।

highest paid IT CEO in india
      
                    WhatsApp Group                             Join Now            
   
                    Telegram Group                             Join Now            
   
                    Instagram Group                             Join Now        

highest paid IT CEO in india 2024: I.T Sector Important Points

highest paid IT CEO in india
Salil Parekh highest paid IT CEO in india
  • इससे पहले 2024 में सबसे ज्यादा सैलरी लेने वाले CEO का record Wipro के Ex chief थिएरी डेटापोर्ट के नाम पर हैं, जिन्होंने 20 million dollar लगभग 166 करोड़ रु.वेतन लिया था।
  • बता दें कि डेटापोर्ट के CEO के अप्रैल में इस्तीफा देने के बाद Wipro के नये CEO श्रीनिवास को FY 2025 में लगभग50 करोड़ रु. वेतन भुगतान किया जायेगा।
  • TCS के CEO और MD कृतिवासन को FY24 में 25.36 करोड़ का annual compensation मिला हैं, जो सभी IT कंपनियों में सबसे कम हैं।
  • HCL technology के CEO C विजयकुमार को FY 2023- 24 में 28.4 करोड़ का पैकेज मिला था।

highest paid IT CEO in india 2024: सलिल पारेख base pay details

FY 2024 के दौरान 66.25 करोड़ Annual compensation में से 7करोड़ रु. Base pay,47 लाख रु. Retrial banifits,7.47 करोड़ रु. Variable pay और Bonus शामिल हैं। इसके अलावा पारेख ने Restricted Stalks unit (RSUs) का उपयोग करके 39.03 करोड़ रु.कमाये हैं।

Financial year 2023 और 2024 में कर्मचारियों का औसत वेतन 9,77,868 रु.और 9,00,012 रु. रहा, इस बीच Infosys के non – executive chairman नंदन M नीलेकोणि ने स्वेच्छा से अपने दी गयी service के लिये वेतन नहीं लेने का निर्णय लिया था।

Share holder’s को letter में यह बात कही

highest paid IT CEO in india

सलिल पारेख ने share holder’sको लिखें पत्र में कहा हैं कि, FY 2024 के दौरान Execution पर कंपनी में लगातार फोकस करने से growth और operating margin Resilience में मदद मिलती हैं। पारेख ने आगे कहा – ‘हमने 2.9 अरब डॉलर का मुक्त नकदी प्रवाह सृजित किया। हमने अपने ग्राहकों के साथ उनकी लागत, दक्षता, ऑटोमेशन और आयोजित कार्यक्रम के दौरान मिलकरमिलकर काम किया जिससे 17.7 अरब डॉलर के बड़े सौदे हुए जो हमारे सालाना सौदों में से सबसे अधिक हैं।

इससे ग्राहकों के लिए हमारी service facility के बारें में पता चलता हैं। उन्होंने कहा ‘पिछले पांच वर्षों के दौरान वित्त वर्ष 2020 से 2024 तक हमने अपनी पूंजी आवंटन नीति के अनुसार अपने शेयरधारकों को 85 प्रतिशत मुक्त नकदी प्रवाह लौटाया है, जो शेयरधारकों को 2.3 अरब डॉलर का प्रतिफल है।’ सलिल पारेख ने कहा कि वित्त वर्ष 24 के दौरान इन्फोसिस ने लगभग 11,900 कॉलेज के स्नातकों की भर्ती की और वर्ष के अंत में उसके 3,17,000 से अधिक कर्मचारी थे।

highest paid IT CEO in india 2024: कौन हैं,सलिल पारेख

highest paid IT CEO in india: भारत के IT sector के दूसरे सबसे मंहगे CEO के रुप में चर्चित सलिल पारेख का जन्म 5 जून 1964 में हुआ था।उन्होंने IIT बॉम्बे से एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री हासिल की है साथ ही उन्होंने Cornell University से कम्प्यूटर साइंस और मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मास्टर्स डिग्री हासिल की है. इंफोसिस में सलिल पारेख सीधे चेयरमैन नंदन निलेकणि को रिपोर्ट करते हैं और कंपनी के फाउंसर एन आर नारायणमूर्ति के भी विश्वासपात्र माने जाते हैं।

अप्रैल में आये थे चौथी तिमाही के नतीजें

Infosys ने 18 अप्रैल को Q4 नतीजे का एलान किया था,जिसमें कंपनी का net profit 6,128 करोड़ रहा,वही कंपनी ने 28 रु. का Dividend भी एलान किया। Infosys के चौथी तिमाही में Operation revenue 1%बढ़कर 37,923 करोड़ रहा,जो पिछले साल इसी तिमाही में 37,441 करोड़ दर्ज किया गया था।

कंपनी ने इस साल कर्मचारियों की संख्या कम की FY 2024 में कंपनी ने अपने कर्मचारियों की संख्या घटा दी,और campus hiring भी नहीं की हैं। कंपनी के Hiring no. में 25,994 की गिरावट दर्ज की गयी 2001के बाद पिछले 23 सालों में ऐसा पहली बार हुआ,कि कंपनी के कर्मचारियों की संख्या में पिछले साल की तुलना में 7.5%की गिरावट आयी हो।

पिछले एक साल में Infosys में कर्मचारियों के नौकरी छोड़ने की दर में कमी आयी हैं, यह 12.9%से घटकर 12.6%पर आ गया हैं। कंपनी में पिछले 4 तिमाही से campus hiring नहीं हुयी हैं, इसका मुख्य कारण कंपनी का utilization rate पर निगरानी रखना और Flexy hiring model का पालन करना बताया जा रहा हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top